Wednesday, November 20, 2019
Home > MYQA World > Thugs ऑफ़ हिन्दोस्तान
MYQA Worldब्लॉगहिंदी

Thugs ऑफ़ हिन्दोस्तान

THUGS OF HINDOSTAN

जी हाँ, यह मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान की आने वाली किसी नई फिल्म का टाइटल नहीं, बल्कि यह आज के हिन्दुस्तान में चल रही वो ज़िंदा फिल्म है जो पिछले कुछ सालों से लगातार चल रही है। यह वो फिल्म है, जो बिना इमरान भाई (हाश्मी) के स्मूचिंग scene, बिना मलिका शेरावत के बेड सीन, बिना रणबीर सिंह की वहशियाना एक्टिंग, बिना अक्षय कुमार की देशभक्ति से लबालब performances के, सुपर डुपर हिट तरीके से चल रही है। इस फिल्म की सफलता का राज़ है इसमें शामिल कलाकार। क्या आप इन महान thugs ऑफ़ हिन्दोस्तान का नाम नहीं सुनना चाहेंगे ? यह महान कलाकार हैं – गोल्डन जुबली श्री नीरव मोदी, सिल्वर जुबली श्री विक्रम कोठारी, नेशनल अवार्ड विनर श्री ललित मोदी और ऑस्कर विजेता विजय मालया साहब। इनमे से कई कलाकारों ने इतनी अच्छी परफॉरमेंस दी है की वो अब हॉलीवुड जा बैठे हैं। भारत की मासूम जनता, जिसको इनलोगों ने ठगा है, उनके लिए इन सभी का सन्देश बिलकुल साफ़ है – ऐसा कोई बचा नहीं, जिसको हमने ठगा नहीं ॥

छोटा मोदी

नीरव मोदी (जिनको कई लोग छोटा मोदी बोल रहें हैं) तो ऐसे कलाकार निकले की पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के शेयर धारकों को अच्छी तरह प्रेम का महा पर्व – वैलेंटाइन डे भी मानाने नहीं दिया। प्यार मोहब्बत के इस दिन PNB ने स्टॉक एक्सचैंजेस को यह मनहूस सूचना दी की नीरव मोदी भारतीयों का 1.8 Billion डॉलर लेकर फरार हो चुके हैं। बेचारे विराट (कोहली) की शादी के बाद पहली वैलेंटाइन थी, पर नीरव मोदी ने उसपर ज़बरदस्त झाड़ू फेर दिया। हम सभी ने कोहली को टीवी पर ये बोलता सुना है – “PNB मेरा अपना बैंक” । मुए ने कोहली के ही बैंक को लूट लिया। सुनने में आया है की अनुष्का अगले दिन किसी दूसरे बैंक में अकाउंट खुलवाने पहुँच गयीं, आखिर लुटे हुए बैंक में कौन अपना account रखना चाहेगा – खबर की पुष्टि नहीं हो सकी है।

नीरव, लेकिन तुम्हारा कॉन्फिडेंस दमदार है। Wharton स्कूल से नापास विद्यार्थी होने के बाद भी तुमने कितने शानदार तरीके से हम भारतीय tax payers को उल्लु बनाया। क्यों न हो, ट्रेनिंग भी तो मामाजी (मेहुल भाई) ने दी थी। मेहुल अंकल ने यह ज़रूर बोला होगा, जो काम युग पुरुष हर्षद मेहता कर गए, वो हम भी तो कर सकते हैं – अंग्रेजी में उसे FRAUD कहते हैं। हर्षद जी तो इतने लकी नहीं रहे, पर नीरव बहुत शाणे साबित हुए। खुद तो भागे ही, परिवार को भी सफाई से बचा ले गए। लगता है एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन वालों का खता PNB में नहीं रहा होगा। स्वघोषित हॉलीवुड सेलिब्रिटी प्रियंका चोपड़ा, जिनके साथ कमर पर हाँथ रख नीरव मोदी ने फोटो खिचवाई थी और जो एक समय पर नीरव पर गर्व किया करतीं थीं आज उनसे अपना क़रार रद्द करने की बात कर रहीं हैं। प्रियंका से अब नीरव की मुलाक़ात शायद हॉलीवुड में ही हो। सिद्धार्थ मल्होत्रा के एक्टिंग करियर के अच्छे दिन नहीं चल रहे, यह किसी से छुपा नहीं है, ऊपर से नीरव के साथ तीन साल का क़रार कर बैठे। हमारी संवेदनाएं सिद्धार्थ के साथ हैं। नीरव तो अब भारत को अलविदा कह चुके हैं । पर उन्होंने USA से एक love letter भारतीयों के नाम भेजा है। पूरा लेटर तो मैं नहीं छाप सकता, उसका सार (summary) बता रहा हूँ – अपने पैसे भूल जाओ – आपका, नीरव मोदी ।

दुसरे ठग हैं – विक्रम कोठारी। इनको फिल्म में ज़्यादा बड़ा रोल नहीं मिल पाया क्योंकि भाई साब कानपुर में थे। मुंबई या दिल्ली में होते तो यह भी उड़नछु हो जाते। नेपाल के रास्ते नार्थ कोरिया भाग सकते थे, पर नेपाल में साम्यवादी समर्थक सरकार बन गयी है और वहां अब सभी Chinese क़लम यूज़ कर रहें हैं । रोटोमैक से कोई नहीं लिखता। कोठारी जी ने कथित तौर पर ज़्यादा नहीं सिर्फ 2919 करोड़ रूपए सात सरकारी बैंकों से क़र्ज़ लिए और अब वापस लौटाने का नाम नहीं ले रहे । यह सभी वो बैंक हैं जो आम आदमी को 10 हज़ार का लोन देते समय लक्कड़ दादा/दादी तक की इन्क्वायरी करवा देते हैं । कोठारी जी को करोडो रूपए ऐसे दे दिए जैसे दुकान का सेठ अपने बच्चे को चॉकलेट खाने के लिए गल्ले में से पांच रूपए निकाल कर तुरंत देता है। कोठारी जी के बेटे राहुल (नाम तो सुना होगा सेनियोरिटा) को भी सीबीआई ने हिरासत में ले लिया है। इससे पहले की राहुल कोठरी कानपुर सेंट्रल से स्विट्ज़रलैंड का टिकट कटवाते सीबीआई ने क्राइम मास्टर गोगो की तरह धावा बोल दिया – हमने भी कच्ची गोलिया नहीं खेली हैं – कानपुर आएं हैं, कुछ तो ले कर जायेंगे – आउँन! आपको बता दें राहुल कोठारीजी ने अपनी मन की बात साफ़ कर दी है – पैसा तो मेरा प्यो (बाप) भी नहीं देगा।

National Award Winner

नेशनल अवार्ड विनर श्री ललित मोदी – इनके क्या कहने, यह सभी अदाओं और प्रतिभाओं के धनी हैं। कथित तौर पर इनके ऊपर FEMA ( Foreign Exchange Management Act, 1999) के उल्लंघन का एक मामला है। BCCI आईपीएल में घोटाले का आरोप है । प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने टेलीकास्ट राइट्स का भी एक केस बनाया है। केमन आइलैंड मैं ग़ैरकानूनी ढंग से जेट विमान खरीदने का आरोप है। और भी कई आरोप और घोटाले हैं। जांच एजेंसीज उनकी तलाश कर रहीं हैं, पर उन्हें ये मालूम नहीं की ललित मोदी मिस्टर इंडिया की अदृश्य (Invisible) करने वाली घडी अपनी फर्स्ट सैलरी से खरीद चुके थे। अदृश्य होकर भारत से कुछ ऐसा निकले की सीधे यूरोप में दिखाई दिए। ललित मोदी जब तक भारत में रहे हसीनाओं की बाँहों में रहे। भारत से फरार होने के बाद की उनकी कुछ तस्वीरें khurki.net पर दिखीं। एक फोटो में ललित शॉर्ट्स पहन कर ललित मुद्रा में समुद्र के किनारे बनी डेक चेयर पर लेटे हैं । चेहरे पर भारत की जनता को धोखा देकर बच भागने का अद्भुद एहसास, सरकारी जांच एजेंसीज को चकमा देने का वो खूबसूरत तेज, और टैक्स पयेर्स को हज़ारों करोड़ों का चुना लगाकर यूरोप की खुली हवा में सांस लेने का आनंद साफ़ छलक रहा है। ऐसा लगता है की वो मन ही मन कह रहें हैं – पैसे? कभी नहीं मिलेंगे!

Oscar Award Winners

आखरी जांबाज़ ठग हैं – ठगी के ऑस्कर विजेता श्री विजय मालया। जब तक विजय मालया भारत में रहे उनकी विशेषता यह रही की, जो भी परदे वाली महिला उनसे एक बार मिली, वह अगले साल उनके सालाना कैलेंडर में अर्धनग्न मॉडल बानी पायी गयी। कई लोगों का ऐसा मानना है की श्री मालया के महिला सशक्तिकरण में भरसक योगदान हेतु ही उन्हें बा-इज़्ज़त भारत से जाने दिया गया। उनकी एयरलाइन्स के एक जाबलेस पायलट के बेटे ने जब अपने पापा से जेब खर्च माँगा, पापा ने किंगफ़िशर का केलिन्डर लाकर दिया और बोले, बेटा तेरे पापा के पास बस अब यही बचा है। मालया स्मार्ट सिटी के ऐसे स्मार्ट कलाकार हैं जिन्होंने बैंकों के बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया को भी चुना लगा दिया। वह स्टेट बैंक के NPA (नॉन परफार्मिंग एसेट) नहीं बल्कि LPA (ला पता अमीरज़ादे) बन गए । अरे दुनिया वालों आप मालया जी को पहचानते नहीं, ये वो आदमी है, जो दारू पियेगा, भले उधार की ही क्यों न हो। तभी तो IDBI Bank से जो लोन किंगफ़िशर एयरलाइन्स को उभारने के लिए लिया, उस पैसे का इस्तेमाल कथित तौर पर उन्होंने छः देशों में महंगी संपत्ति खरीदने के लिए किया। भारत के लिए भले ही वो भगोड़े हैं । U.K. में आज भी वो “इंग्लिश गेस्ट” बनकर ज़िन्दगी के मज़े लूट रहें हैं। विजय मालया को आज भविष्य में फ्रॉड करने को इक्छुक लोग अपना आदर्श मानते हैं। उनका एक सीक्रेट फैन क्लब भी है। जांच एजेंसियों को ये पता लगाना चाहिए की कहीं नीरव दादा और मेहुल भाई इस फैन क्लब के एक्टिव मेंबर तो नहीं। उधर विजय मालया ने भारतीय मीडिया को एक इंटरव्यू दिया है। जब उनसे यह सवाल पुछा गया कि क्या आप भारतीयों का पैसा लौटाएंगे ? मालया जी ने शुद्ध हिंदी में जवाब दिया – घन**
अगर Thugs ऑफ़ हिन्दोस्तान पसंद आया तो अपने दोस्तों के बीच ज़रूर शेयर करो।