Sunday, September 22, 2019
Home > EDITORS PICK > भारतीय पुरुष #Me Too से कैसे बचें? #Me Too से बचने के कारगर उपाय
EDITORS PICKSliderब्लॉगहिंदी

भारतीय पुरुष #Me Too से कैसे बचें? #Me Too से बचने के कारगर उपाय

Me too

प्रिय भारत के पुरुषों, हमें मालूम है की आजकल आप सभी लोगों पर #Me Too नाम की मुसीबत का क़हर टूट पड़ा है. हम तो कहेंगे ये प्रकृति का प्रकोप या पुरुष प्रजाति द्वारा किये गए किसी पूर्व पाप या ऋषि मुनियों द्वारा दिए गए श्राप का नतीजा है. आखिर क्यों न हो, फिल्मों में ज़िन्दगी भर छेड़खानी और बलात्कार करने वाले सारे गुंडों का बाल भी बांका नहीं हुआ और फंसे कौन? बेचारे संस्कारी अलोक नाथ!

चलो भगवान् को जो मंज़ूर था वो हो गया पर अब हम ऐसा नहीं होने देँगे. हम आपको बताने जा रहें हैं #Me Too से बचने का रामबाण इलाज. अगर हमारे द्वारा बताये गए रस्ते को आपने follow किया तो आप कभी #Me Too के जाल में नहीं फँस सकेंगे. तो आइये, हम एक एक करके ये संस्कार आपसे शेयर करते हैं.

पहला – किसी भी महिला मित्र या महिला सहकर्मी को ज़बरदस्ती नाच सिखाने की कोशिश न करें
जी हाँ सही पढा आपने, NDTV में छपी खबर के मुताबिक ‘आशिक़ बनाया वाली’ अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने कलाकार नाना पाटेकर पर यह आरोप लगाया है की फिल्म Horn Ok Please की शूटिंग के दौरान, नाना पाटेकर ने बिना उनकी इजाज़त उनको अभद्र तरीके से पकड़ कर डांस स्टेप्स सिखाने की कोशिश की. कथित तौर पर नाना ने Choreographer को कहा, आप रुक जाओ, यहाँ से नाच मै सिखाऊंगा – कधी शंभर One, कधी शंभर Two…. हुआ क्या फँस गए बेचारे नाना – #Me Too

Nana Tanu

तो दोस्तों, आपमें से जो-जो लोग अपनी महिला कलीग्स को ज़बरदस्ती नाच सिखाने की कोशिश करते हैं या ऑफिस की पार्टियों में महिलाओं को ज़बरदस्ती नाचने को मजबूर करते हैं, होशियार हो जाइये – अगला नंबर आपका हो सकता है.

दूसरा – महिला सहकर्मी, मित्र या इंटर्न/ट्रेनी को ज़बरदस्ती चूमने की कोशिश न करें
किसी ने सही कहा है – वासना, विवेक और सन्मति का नाश करती है. पूरी दुनिया को ज़ायके का सफर करवाने वाले सम्माननीय विनोद दुआ जी पर भी महिला फिल्म निर्देशक निष्ठां जैन ने आरोप लगाया है की उन्होंने 1989 में उन्हें किसी पार्किंग में अपनी गाड़ी के अंदर बुलाया और चूमने की कोशिश की. इस कथित चुम्बन काण्ड की वजह से विनोद दुआ भी #Me Too के दायरे में आ गए हैं.

vinod-dua-nishtha-jain

बहुत बड़े कॉर्पोरेट गुरु, कथित तौर पर और भी आगे निकल गए, अख़बारों के अनुसार नतशजा राठौर ने उनपर आरोप लगाया है की उन्होंने गुरुग्राम स्थित अपने अपार्टमेंट में जबरन उन्हें चूमने की कोशिश की, नतशजा ने बताया की सेठजी वहीँ नहीं रुके, बल्कि उनके कुर्ते के अंदर भी हाँथ दाल दिया. यह बातें सच है या नहीं ये तो वक़्त ही बताएगा.

seth

पर ‘मनु की संतानों’ आप सभी से ये अनुरोध है, कृपया करके जबरन महिलाओं को चूमने का कतई प्रयास न करें. यह काम हॉलीवुड फिल्मों के नायकों के लिए छोड़ दें या फिर इमरान हाश्मी के लिए – सिर्फ फिल्मो में, आप निःसंदेह #Me Too से बचे रहेंगे.

kher

तीसरा – ग़लती से या जान बूझ कर महिलाओं या महिला सहकर्मी की जाँघों को छूने का प्रयास न करें
ध्यान रहे दोस्तों, आप में से ज़्यादातर लोगों को भगवान् ने Parkinson Disease से मेहफ़ूज़ रखा है, इसलिए आपका हाँथ आपके काबू में है. इस हाँथ को कण्ट्रोल में रखें. न्यूज़ सेंट्रल में छपी ख़बरों के मुताबिक़, नताशा हेमराजानी ने मशहूर गायक कैलाश खेर पर यह आरोप लगाया है की एक साक्षात्कार के दौरान कैलाश खेर ने उनकी और उनकी दोस्त की Thigh (जांघ) के ऊपर कई बार हाँथ रखा. उन दोनों से कैलाश ऐसे चिपक कर बैठ गए की हवा भी पास न हो पाए. भाइयों, आप सभी से ये गुज़ारिश है, महिलाओं के बीच अपने हांथों पर काबू बनाये रखे, नहीं तो हो जायेगा आपके साथ भी #Me Too

sajid-khan

चौथा – किसी महिला मित्र या सहकर्मी को घर या होटल में बुलाकर अंडरवियर में दरवाज़ा न खोलें
ऐसे तो हमारे भारत में गर्मियों के दिनों में अंडरवियर और बनियान को नेचुरल ड्रेस माना जाता है, जिसे लोग बड़ी शौक़ से पहनते हैं. लेकिन याद रहे, ये अंडरवियर कभी भी आपके लिए मुसीबत का सबब हो सकती है. डेक्कन क्रॉनिकल में छपी खबर की माने तो महिला पत्रकार तुषिता पटेल ने प्रसिद्ध संपादक एवं भाजपा नेता श्री एम् जे अकबर पर यह आरोप लगाया है की अकबर ने कथित तौर पर उन्हें काम के सिलसिले में होटल के कमरे में बुलाया, जब अकबर ने तुषिता के लिए दरवाज़ा खोला तो वह सिर्फ कच्छा (Underwear) पहने हुए थे. अख़बारों में छपी ख़बरों के अनुसार स्वाति गौतम नाम की महिला ने भी अकबर पर यह आरोप लगाया है की जब वो एक स्टूडेंट थी तो उनसे अकबर होटल के एक कमरे में सिर्फ Bathrobe में मिले. अकबर भी हो गए #Me Too का शिकार. तो दोस्तों याद रहे, कभी भी महिला सहकर्मी, मित्र या फैन को घर या होटल बुलाएँ – अपनी पैंट या पैजामा डालना न भूलें. सावधानी हटी – #Me Too घटी.

पांचवा – महिला सहकर्मी या मित्र के स्तनों को छूने और नितम्भों को सहलाने का प्रयास न करें
शास्त्रों के अनुसार, काम, क्रोध और लोभ – ये आत्मा को नाश करने वाले नरक के तीन दरवाज़े हैं. #Me Too में नाम आ जाना इन दिनों नरक से कम नहीं है.

wahab-akbar

अब देखिये न द-वायर में छपी ख़बरों को माने तो पूर्व विदेश राज्य मंत्री श्री एम जे अकबर पर फ़ोर्स मैगज़ीन की एग्जीक्यूटिव एडिटर गज़ाला वहाब ने यह आरोप लगाया है कि 1997 में जब वह अकबर के साथ Asian Age अखबार में काम कर रहीं थीं तो एक बार अकबर ने उन्हें पीछे से आकर दबोच लिया और उनके स्तनों और नितम्भो पर हाँथ फेरने लगे. कथित तौर पर गज़ाला किसी तरह अपनी जान बचा कर भागी. हलाकि श्री अकबर ने इन आरोपों का खंडन किया है. पर अब अंजाम देखिये, श्री अकबर को अपना मंत्री पद गवाना पड़ा, बेइज़्ज़ती हुई, वो अलग. ये सच है या ग़लत यह तो वक़्त बताएगा पर आप सभी दोस्तों से इल्तेजा है कि भूल कर भी इस तरह कि हरकतों को अंजाम न दें, वरना आप का अंजाम भी #Me Too होगा.

छठा – किसी भी महिला, विशेषकर महिला सहकर्मी को घर बुलाकर अपनी पैंट न उतारें
जी हाँ, इधर आपने अपनी चार दीवारी के भीतर अपनी पैंट उतारी, उधर #Me Too आपकी पैंट भरे- बाजार उतार देगा.

sajid-anu

इंडिया टुडे में छपी खबर के अनुसार एक अनाम महिला ने संगीतकार और इंडियन आइडल के जज अनु मलिक पर यह आरोप लगाया है की जब वह किसी काम के सिलसिले में उनसे मिलने उनके घर गयी. अनु मालिक ने उनकी स्कर्ट ऊपर खींच दी और अपनी पैंट नीचे गिराकर गुप्तांगों को एक्सपोज़ कर दिया. कुछ इसी प्रकार महिला पत्रकार करिश्मा उपाध्याय ने फिल्म निर्माता और निर्देशक साजिद खान पर आरोप लगाया है की एक इंटरव्यू के लिए जब वह साजिद खान के घर गयी तो साजिद खान डीवीडी लेने के बहाने कमरे में गए और जब वापिस लौटे तो उनका गुप्तांग उनकी पैंट के बीच से झाँक रहा था. अखबारों के अनुसार इसी तरह के कुछ आरोप फिल्म निर्माता भूषण कुमार पर भी लगे हैं. दोस्तों, पैंट हो या पैजामा दोनों को संभाल कर रखें, और महिला मित्र या सहकर्मियों के सामने क़तई गिरने न दें. क्योंकि पर्दा जो उठ गया तो #Me Too हो जायेगा – उसके बाद – अल्लाह मेरी तौबा, अल्लाह मेरी तौबा.

सातवां- महिला मित्र या महिला सहकर्मी का बलात्कार या उसके जैसी कोई घिनौनी हरकत न करें
सातवा और आखरी उपाय न सिर्फ आपको #Me Too से बल्कि धारा 375 से भी बचा सकता है. महिला मित्र या सहकर्मी से बलात्कार की बात को मस्तिष्क में आने तक न दें. मदिरा का सेवन उतना ही करें जिससे आप इस तरह का कोई कृत्य करने को उतारू न हो जाएँ.

vinita-alok

अब देखिये न, टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी ख़बरों की माने तो 1990 का मशहूर टीवी धारावाहिक ‘तारा’ बनाने वाली लेखिका एवं निर्माता विनीता नंदा ने बॉलीवुड के पूजनीय बाउजी पर उनका बलात्कार करने का आरोप लगाया है. #MeToo की अंग्रेजी शब्दावली में संस्कारी अलोक नाथ को ‘Predator की संज्ञा दी जा रही है.

Vikas

वहीँ हफ़्फिंगटन पोस्ट के मुताबिक़ अवार्ड विनिंग फिल्म क्वीन के निर्माता विकास बहल पर एक महिला ने यह आरोप लगाया है की उन्होंने गोवा के होटल के कमरे में उस से ज़बरदस्ती करने की कोशिश की. कथित तौर पर जब उस महिला ने बहल को रोकने की कोशिश की तो श्री बहल ने उनके पीठ पर हस्तमैथुन कर दिया और Fuck You Bitch बोलकर चले गए. आज स्तिथि ये हो गयी है की अलोक नाथ और बहल आरोपों से घिरे हुए हैं और उनके दोस्त एक-एक कर उनसे किनारा करते जा रहें हैं. क्या आप चाहते हैं? आपके दोस्त, रिश्तेदार आप से दूरी बना लें? तो याद रखिये किसी भी महिला मित्र या महिला सहकर्मी की आबरू से खेलने का प्रयत्न न करें.

यदि आप इन सात कृत्यों को न करने का वचन दें, तो आप सात जन्मो तक #Me Too से बचे रहेंगे. एक खुशाल और हसीन ज़िन्दगी का लुफ्त उठाते रहेंगे. #Me Too का भूत आपको जवानी या बुढ़ापे में सताने को नहीं आएगा.

tarana-burke

धन्य हो तराना बुर्के जिन्होंने #Me Too के इस आंदोलन की शुरुआत की. हालाँकि ये भी सही है की वाट्सएप्प पर बहुत सारे लोग उस शख्स को ढूंढ रहें हैं जिसने तराना के साथ #Me Too करने की कोशिश की होगी.

मत्वपूर्ण सूचना – दोस्तों इन सात वचनो को सभी पुरुषों के बीच ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें. महिलाओं से यह आग्रह है की वो इस लेख को अपने पति, पिता, पुत्र, भाई, बॉस, बॉयफ्रेंड, कलीग्स को शेयर करें, ताकि #Me Too का खौफ बना रहे.

जय #Me Too