Sunday, September 22, 2019
Home > शायरी > Happy Propose Day Shayari
शायरी

Happy Propose Day Shayari

 

क़सूर तो था ही इन निगाहों का,
जो चुपके से दीदार कर बैठीं।
हमने तो खामोश रहने की ठानी थी,
पर बेवफा ये जुबां इज़हार कर बैठी ।